Rajasthan Current Affairs January 2017

Rajasthan Current Affairs for January 2017Rajasthan Current Affairs General Knowledge(GK) Multiple Choice Questions (MCQ) for RAS, IAS/ Bank and other competitive examinations across Rajasthan.  As part of Current Affairs , We will daily provides you Question of Current Affairs, India GK and World GK during whole month of January 2017 which will help you in various rajasthan state level examinations like RAS, REET, Rajasthan Patwari, Rajasthan Police and other state level examinations. For Current Affairs Live Updates, Rajasthan GK, Download Free Mobile App:
"राजस्थान GK" फ्री Android Apptinyurl.com/RajasthanGK   

Rajasthan Current Affairs for January 2017:  

मुख्यमंत्री स्वच्छ ग्राम योजना का शुभारंभ कहाँ से किया है ?
A. नया गांव 
B. गोडुंदा 
C. कंवरपुरा मण्डवालान
D. ओसियाँ 
Answer: C 
विस्तार : मुख्यमंत्री स्वच्छ ग्राम योजना गांव को स्वच्छ, स्वस्थ एवं सुन्दर बनाने के लिए प्रारम्भ की गई राज्य सरकार की महत्ती योजना है। योजना का राज्य स्तरीय शुभारंभ 6 जनवरी को पंचायत समिति खानपुर की ग्राम पंचायत कंवरपुरा मण्डवालान में राज्य जन अभाव अभियोग निराकरण समिति के अध्यक्ष श्रीकृष्ण पाटीदार, संसदीय सचिव श्री नरेन्द्र नागर, जिला प्रमुख टीना कुमारी भील तथा जिला कलक्टर डॉ. जितेन्द्र कुमार सोनी द्वारा किया गया। Check Detail Explanation at RAJASTHAN GK Apptinyurl.com/RajasthanGK

वर्ष 2017 से दूध उत्पादकों के लिए 5 लाख रुपए का दुर्घटना बीमा किस योजना के तहत दिया जायेगा ?
A. मुख्यमंत्री सुरक्षा कवच बीमा योजना
B. प्रधानमंत्री बीमा योजना
C. राज सरस सुरक्षा कवच बीमा योजना
D. राजस्थान सुरक्षा कवच बीमा योजना
Answer: C 

विस्तार : मुख्यमंत्री श्रीमती वसुन्धरा राजे ने प्रदेश के दूध उत्पादक किसानों को नववर्ष का तोहफा दिया है। राजस्थान को-ऑपरेटिव डेयरी फेडरेशन से जुड़े किसानों को अब ‘राज सरस सुरक्षा कवच बीमा योजना’ के तहत 5 लाख रुपए का व्यक्तिगत दुर्घटना बीमा लाभ मिलेगा। Check Detail Explanation at RAJASTHAN GK Apptinyurl.com/RajasthanGK

राज सरस सुरक्षा कवच बीमा योजना | Raj Saras Suraksha Kavach Bima Yojana

राज सरस सुरक्षा कवच बीमा योजना (Raj Saras Suraksha Kavach Bima Yojana): मुख्यमंत्री श्रीमती वसुन्धरा राजे ने प्रदेश के दूध उत्पादक किसानों को नववर्ष का तोहफा दिया है। राजस्थान को-ऑपरेटिव डेयरी फेडरेशन से जुड़े किसानों को अब ‘राज सरस सुरक्षा कवच बीमा योजना’ के तहत 5 लाख रुपए का व्यक्तिगत दुर्घटना बीमा लाभ मिलेगा। यह सम्भवतः दुग्ध उत्पादक किसानों के लिए सर्वाधिक व्यक्तिगत दुर्घटना बीमा राशि वाली देश की पहली योजना है। मुख्यमंत्री ने सहकारिता एवं गोपालन मंत्री श्री अजय सिंह किलक को दुग्ध उत्पादक किसानों के लिए नववर्ष के अवसर पर यह सुरक्षा योजना लागू करने के निर्देश दिए थे। सहकारिता एवं गोपालन मंत्री ने बताया कि डेयरी फेडरेशन से जुड़ी दुग्ध उत्पादक सहकारी समितियों के सदस्यों के लिए नई बीमा योजना शुरू की गई है, जिसका लाखों दुग्ध उत्पादकों को लाभ मिलेगा। 

राज सरस सुरक्षा कवच बीमा योजना

  • इस बीमा योजना में महिलाओं तथा एससी-एसटी के सदस्यों को विशेष सौगात दी गई है। उन्हें कम प्रीमियम पर बीमा लाभ मिलेगा। 
  • इन सदस्यों को मात्र 20 रुपए 25 पैसे वार्षिक प्रीमियम पर इस दुर्घटना बीमा लाभ मिलेगा, जबकि सामान्य सदस्यों के लिए वार्षिक प्रीमियम 24 रुपए 30 पैसे होगा। 
  • सहकारिता एवं गोपालन मंत्री ने कहा कि इस बीमा योजना से दुग्ध उत्पादक परिवारों को दुर्घटना की स्थिति में आर्थिक संबल मिल सकेगा। उन्होंने कहा कि यह दूध उत्पादक किसानों एवं उनके परिजनों के हित में लिया गया महत्वपूर्ण फैसला है। 
  • राज सरस सुरक्षा कवच बीमा योजना’ के लिए राज्य सरकार ने यूनाइटेड इण्डिया इंश्योरेंस कम्पनी लिमिटेड से एमओयू किया है। इसके तहत बीमित सदस्य की मृत्यु होने पर उसके नॉमिनी को 5 लाख रुपए का बीमा लाभ मिलेगा। 
  • बीमित व्यक्ति के पूर्ण अपंग होने पर या दोनों आखें अथवा दोनों हाथ अथवा दोनों पैर से अपंग होने पर 5 लाख रुपए का बीमा लाभ और एक आंख या एक पैर या एक हाथ की अपंगता पर 2.50 लाख रुपए का बीमा लाभ प्राप्त होगा।  

पटवार मुख्य परीक्षा 2016 की उत्तर कुंजी जारी

राजस्थान अधीनस्थ एवं मंत्रालयिक सेवा चयन बोर्ड (RSMSSB) द्वारा 24 दिसम्बर, 2016 को आयोजित पटवार सीधी भर्ती (मुख्य) परीक्षा 2016 का प्रश्न पत्र तथा इसकी उत्तर कुंजी बोर्ड की वेबसाईट www.rsmssb.rajasthan.gov.in पर जारी कर दी गई है। परीक्षार्थी प्रश्न पत्र में सम्मिलित प्रश्न अथवा उत्तर कुंजी पर अपनी आपत्तियां निर्धारित शुल्क के साथ 8 जनवरी, 2017 से 11 जनवरी, 2017 को रात्रि 12 बजे तक बोर्ड की वेबसाईट पर दर्ज करवा सकते हैं। 

मुख्यमंत्री स्वच्छ ग्राम योजना | Mukhyamantri Swachh Gram Yojana

मुख्यमंत्री स्वच्छ ग्राम योजना (Mukhyamantri Swachh Gram Yojana): मुख्यमंत्री स्वच्छ ग्राम योजना गांव को स्वच्छ, स्वस्थ एवं सुन्दर बनाने के लिए प्रारम्भ की गई राज्य सरकार की महत्ती योजना है। यह योजना राज्य की उन ग्राम पंचायतों में लागू की जा रही है जो कि खुले में शौच जाने के अभिशाप से मुक्त (ओडीएफ) हो चुकी है। योजना का राज्य स्तरीय शुभारंभ 6 जनवरी को पंचायत समिति खानपुर की ग्राम पंचायत कंवरपुरा मण्डवालान में राज्य जन अभाव अभियोग निराकरण समिति के अध्यक्ष श्रीकृष्ण पाटीदार, संसदीय सचिव श्री नरेन्द्र नागर, जिला प्रमुख टीना कुमारी भील तथा जिला कलक्टर डॉ. जितेन्द्र कुमार सोनी द्वारा किया गया।
इस योजना के अन्तर्गत प्रतिदिन घर-घर जाकर रिक्शा ट्रोली के माध्यम से कचरा संग्रहण किया जाएगा। ट्रोली के दो भाग होंगे। हरे भाग में सड़नशील कचरा (बॉयोडीग्रेडेबल) तथा लाल भाग में न सड़ने वाला (नोन बॉयोडीग्रेडेबल) कचरा होगा। उन्होंने बताया कि ग्राम पंचायत कें प्रत्येक गांव में लगभग 150 घरों का क्लस्टर बनाया जाएगा। क्लस्टर के इन घरों तथा सामुदायिक कचरा पात्र से ठोस कचरे के संग्रहण एवं परिवहन के लिए महात्मा गांधी नरेगा योजना के तहत दो श्रमिकों का नियोजन 100 दिवसों के लिए किया जाएगा। इससे ग्राम पंचायत के करीब 30 लोगों को न सिर्फ रोजगार प्राप्त होगा बल्कि कचरा प्रबंधन से ग्राम पंचायत को वार्शिक आय भी प्राप्त होगी

ग्राम सेवक परीक्षा 2016 की उत्तर कुंजी जारी

राजस्थान अधीनस्थ एवं मंत्रालयिक सेवा चयन बोर्ड (RSMSSB) द्वारा 18 दिसम्बर, 2016 को आयोजित ग्राम सेवक एवं पंचायत सचिव तथा छात्रावास अधीक्षक ग्रेड-॥, परीक्षा 2016 का प्रश्न पत्र तथा इसकी उत्तर कुंजी बोर्ड की वेबसाईट www.rsmssb.rajasthan.gov.in पर जारी कर दी गई है। परीक्षार्थी प्रश्न पत्र में सम्मिलित प्रश्न अथवा उत्तर कुंजी पर अपनी आपत्तियां निर्धारित शुल्क के साथ 5 जनवरी, 2017 से 8 जनवरी, 2017 को रात्रि 12 बजे तक बोर्ड की वेबसाईट पर दर्ज करवा सकते हैं। 

डिजीटल ट्रांजेक्जशन में अजमेर जिला देश के सर्वश्रेष्ठ 5 जिलों में शामिल

नीति आयोग तथा इलेक्ट्रोनिकी और सूचना प्रौद्योगिकी मंत्रालय द्वारा शुक्रवार को नई दिल्ली के तालकटोरा स्टेडियम में आयोजित डिजीधन मेला कार्यक्रम में प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी ने कैशलेस समाज के निर्माण तथा नोटबंदी के बाद किए गए समुचित इंतजामों के लिए अजमेर जिले को देश के प्रथम 5 जिलों में शामिल करते हुए अजमेर जिला कलक्टर श्री गौरव गोयल को सम्मानित किया। अजमेर के साथ ही गुजरात के राजकोट, आन्धर््रप्रदेश के कृष्णा तथा झारखण्ड के जमशेदपुर और बोकारो जिलों को भी इन्हीं मानकों के आधार पर सम्मानित किया गया है। इस अवसर पर सूचना एवं प्रौद्योगिकी मंत्री श्री रविशंकर प्रसाद, राज्य मंत्री श्री पी.पी.चौधरी, नीति आयोग के उपाध्यक्ष श्री अरविंद पनगड़िया आदि उपस्थित थे। 
इन इंतजामों के लिए अजमेर को मिला सम्मान - पुष्कर मेले में शानदार इंतजाम देश में 8 नवम्बर को जब नोटबंदी घोषित हुई तब अजमेर में अन्तर्राष्ट्रीय पुष्कर मेला चल रहा था। जैसे ही नोटबंदी हुई। जिला कलक्टर श्री गौरव गोयल के नेतृत्व ने प्रशासन ने  पुष्कर मेले में कमान संभालते हुए विभिन्न वर्गों के साथ समन्वय स्थािपत किया तथा किसी तरह की अव्यवस्था उत्पन्न नहीं होने दी। यहां बैंकों, होटल एसोशिएसन, गाईड व देशी एवं विदेशी पर्यटकों के साथ समन्वय स्थापित कर व्यवस्था को संभाला गया। - जिला प्रशासन ने अजमेर डेयरी के साथ समन्वय स्थापित कर डेयरी बूथ संचालकों को डिजीटल पेमेंट के प्रति जागरूक किया तथा व्यवस्थाओं को लागू किया। - जिला प्रशासन ने नोटबंदी के दिनों में बैंकों में सुरक्षा एवं व्यवस्थाओं को बनाए रखने के लिए खुद पहल कर बैंकर्स व उपभोक्ताओं में सामंजस्य स्थापित किया तथा बैंकों के बाहर किसी तरह अव्यवस्था नहीं होने दी। - जिला प्रशासन ने मीडिया, व्यापारी, स्वयं सेवी संगठन, विद्यार्थी, अधिकारी व कर्मचारी आदि वर्गों को जागरूक किया तथा उनके साथ समन्वय स्थापित कर डिजीटल भुगतान की अवधारणा को विकसित किया। - सभी सरकारी कार्यालयों में कैश पेमेन्ट को हतोत्साहित कर डिजीटल पेमेंट लागू किया गया। - हाल ही में आयोजित ग्राम सेवक एवं छात्रावास अधीक्षक परीक्षाओं में कार्य करने वाले कर्मचारियों को डिजीटल पेमेंट किया गया। - जिले में रजिस्टर्ड 5 लाख मे से 3.50 लाख रूपे कार्ड एक्टिव करवाए गए। - अजमेर जिले में जवाहर रंगमंच में रिजर्व बैंक ऑफ इण्डिया के माध्यम से कार्यशाला आयोजित कर विभिन्न वर्गों को जागरूक किया गया। - सोशल मीडिया के माध्यम से लोगों को जागरूक किया गया। स्कूल, कॉलेजों व गांवो की चौपालों पर विशेष प्रचार अभियान चलाया गया। - जिले में नयागांव हरमाड़ा पहला कैशलेस गांव बनेगा। इसके साथ ही अजमेर व पुष्कर शहर तथा 26 गांवों को भी कैशलेस किया जाएगा।

Rajasthan GK Sample Quiz No. 242

Rajasthan GK Sample Question Paper No. 242: Rajasthan General Knowledge Sample Question Paper with Collection 10 Question of Rajasthan GK Questions for RAS, Rajasthan Police, REET, SI, Contable, Patwari and other state exams under GK Quiz based on Rajasthan School Lecturer (Geography) Paper held on 21 July 2016.  Rajasthan General Knowledge (GK) and General Studies (GS) Questions from various examinations of Rajasthan Govt. and central Govt Examinations.

For More Rajasthan GK Follow us on  
Rajasthan GK App: http://tinyurl.com/RajasthanGK

Rajasthan GK Question Paper No 242:
The mm isohyet line which divides Rajasthan into almost two equal halves is
A. 250
B. 500
C. 100
D. 50
Answer B. 500

The decreasing trend of rainfall in Rajasthan is specifically from
A. Southwest and southeast to northwest
B. southwest to northeast
C. southeast north
D. northeast to southwest
Answer A. southwest and southeast to northwest

Star sand dunes are found near
A. Jaisalmer
b. Jodhpur
C. Suratgarh
D. Barmer
Answer C. Suratgarh

Vindhyan escarpment in Rajasthan mainly consists of
A. sandstone
B. limestone
C. quartzite
D. dolomite
Answer A. sandstone

Percentage of cropped area to the total area of Rajasthan is approximately
A. 42
B. 51
C. 70
D. 80
Answer C. 70

Inverse relationship between height and density of relief columns was hypothesized by
A. Airy
B. Holmes
C. Both Airy and Holmes
D. Pratt
Answer D. Pratt

' Terranes ' are
A. Crustal pieces migrating due to mantle convection and plate tectonics
B. convergent plates
C. divergent plates
D. transcurrent plates
Answer A. Crustal pieces migrating due to mantle convection and plate tectonics

Had there been level land surface and no earth rotation the winds would blow with reference to isobars
A. parallel
B. oblique
C. at right angles
D. Haphazard
Answer C. at right angles

Coriolis force is maximum on
A. land breeze
B. sea breeze
C. trade winds
D. Polar winds
Answer D. Polar winds

The winds blowing with constant speed and direction due to the sum of forces working on them is zero, are called
A. westerlies
B. geostrophic
C. easterlies
D. jet
Answer B. geostrophic

Ideal salinity for coral growth is
A. 5 - 10%
B. 10 - 17%
C. 37 - 46%
D. 27 - 30%
Answer D. 27 - 30%

Hermatypic is a type of
A. coral
B. climate
C. intrusive rock
D. extrusive rock
Answer A. coral

For Full Paper, Rajasthan GK Notes, Current Affairs, 20000+ MCQs, Old Exam Papers Solved, Download Free "Rajasthan GK" Mobile App: https://play.google.com/store/apps/details?id=com.csurender.android.rajasthangk

अन्नपूर्णा रसोई योजना | Annapurna Rasoi Yojana, Rajasthan

अन्नपूर्णा रसोई योजना (Annapurna Rasoi Yojana in Rajasthan): राजस्थान की मुख्यमंत्री वसुंधरा राजे ने सभी को भरपेट भोजन कराने के लिए अन्नपूर्णा रसोई योजना शुरु की है। वसुंधरा राजे की पहल पर सरकार अन्नपूर्णा रसोई योजना राज्य में लागू कर रही है जिसके तहत 12 जिलों मे 8 रुपये में भरपेट खाना और सुबह 5 रुपये में भरपूर नाश्ता दिया जायेगा। इस योजना के तहत खास तौर पर श्रमिक, रिक्शावाला, ऑटोवाला, कर्मचारी, विद्यार्थी, कामकाजी महिलाओं, बुजुर्ग एवं अन्य असहाय व्यक्तियों को मात्र 5 रुपये प्रति प्लेट में नाश्ता तथा मात्र 8 रुपये प्रति प्लेट में दोपहर का भोजन और रात्रि का भोजन उपलब्ध कराया जाएगा। एक सरकारी विज्ञप्ति के अनुसार, सबके लिए भोजन, सबके लिए सम्मान मिशन के साथ अन्नपूर्णा रसोई योजना प्रथम चरण में 12 शहरों में शुरू की जाएगी। पहले चरण में जयपुर, जोधपुर, उदयपुर, अजमेर, कोटा, बीकानेर, भरतपुर आदि शहरों में 80 मोबाईल वैन के जरिये तीन समय भोजन की व्यवस्था की जायेगी. धीरे-धीरे इसे भविष्य मे इसे पूरे प्रदेश मे लागू किया जाएगा।