Rajasthan, HPCL ink pact for Barmer Refinery

Rajasthan state government and Hindustan Petroleum Corporation (HPCL) have formed a joint venture (JV) to build an oil refinery project at Barmer in India at a cost of Rs. 43,129 crore ($6.73bn) on 21st August 2017. An agreement in this regard was signed by the two parties after receiving an approval from the Indian government to go ahead with the planned 9 million metric tonne crude Barmer Petroleum Refinery-cum-Petrochemical Complex.  The new joint venture company named as HPCL Rajasthan Refinery (HRRL) will have the Indian state-owned oil and natural gas company HPCL owning a 74% stake in partnership with the Rajasthan government which will hold a stake of 26%. 
The agreement signed in the presence of oil minister Dharmendra Pradhan and Rajasthan chief minister Vasundhara Raje entitles the company to a viability gap funding of Rs1,123 crore a year for 15 years from the year of commercial production. The funding will be in the form of an interest-free loan to be refunded in subsequent 15 years. The project includes a petrochemicals complex too. The proposed refinery will be able to process local crude from Vedanta Ltd’s Barmer oil field in the state as well as imported crude. Vedanta, which recently merged its group company Cairn India Ltd with itself, is planning more investments into enhanced oil recovery from its Barmer assets. Anil Agarwal, chairman, Vedanta Group had last December said the group was committed to investing Rs30,000 crore to add 100,000 barrels of oil and oil equivalent over the next three years, primarily from its prolific Rajasthan fields.

राजस्थान खादी ग्रामोद्योग बोर्ड के अध्यक्ष शंभूदयाल बड़गूजर का निधन

केकड़ी से भाजपा के पूर्व विधायक व खादी ग्रामोद्योग बोर्ड के मौजूदा अध्यक्ष शम्भू दयाल बडगूजर का 19 अगस्त को निधन हो गया है। मुख्यमंत्री श्रीमती वसुन्धरा राजे ने राजस्थान खादी ग्रामोद्योग बोर्ड के अध्यक्ष  श्री शंभूदयाल बड़गूजर के निधन पर शोक व्यक्त किया है। मुख्यमंत्री ने स्व. बड़गूजर के परिजनों को ढांढस बंधाया। अपने शोक संदेश में श्रीमती राजे ने कहा कि श्री बड़गूजर मिलनसार एवं मृदुभाषी थे। 
खादी बोर्ड के अध्यक्ष के रूप में उन्होंने खादी को बढ़ावा देने वाली कई योजनाओं और नवाचारों को लागू किया। इसका फायदा बुनकरों और खादी ग्रामोद्योग से जुड़ी संस्थाओं को मिला। राज्यमंत्री दर्जा प्राप्त बड़गूर्जर पिछले तीन महीनों से अस्वस्थ थे। जयपुर के फोर्टीज अस्पताल में उनका इलाज चला, लेकिन देर रात को एसएमएस अस्पताल में इलाज के दौराने ही उन्होंने आखिरी सांस ली। भाजपा नेताओं में उनकी अपनी एक अलग छवि थी। 1993 के विधानसभा चुनाव में पूरे देश की राजनीत में अपना ऊंचा ओहदा रखने वाले कांग्रेस के दिग्‍गज नेता जगन्‍नाथ पहाड़िया को हराकर पूरे प्रदेश में अपनी अलग ही पहचान बनाई थी। बड़गूर्जर अपने पीछे दो बेटे और एक बेटी छोड़ गए हैं।

प्रथम राष्ट्रीय आयुर्वेद युवा महोत्सव का आयोजन जयपुर में 14 से 16 सितम्बर 2017 तक

प्रथम राष्ट्रीय आयुर्वेद युवा महोत्सव (Rashtriya Ayurvedic Yuva Mahotsav Jaipur 2017) का आयोजन 14 से 16 सितंबर 2017 को जयपुर में राष्ट्रीय आयुर्वेद संस्थान में किया जाएगा। इस महोत्सव में 21 राज्यों से 3000 से अधिक प्रतिभागी शामिल होंगे। इस महोत्सव का आयोजन राष्ट्रीय आयुर्वेद संस्थान, जयपुर एवं विज्ञान भारती की इकाई नेशनल आयुर्वेद स्टुडेंट्स एवं यूथ एसोसिएशन (नस्या) द्वारा केन्द्रीय आयुष मंत्रालय के सहयोग से किया जा रहा है। इस संबंध में रविवार को राष्ट्रीय आयुर्वेद संस्थान, जयपुर में महोत्सव की स्वागत समिति की बैठक आयोजित की गई। बैैठक में सांसद श्री रामचरण बोहरा ने कहा कि वर्र्तमान युग में आयुर्वेद को आधुनिक रूप देने के लिए ऊर्जावान छात्रों व वैद्यों की आवश्यकता है तथा यह राष्ट्रीय स्तर पर आयोजित होने वाला युवा महोत्सव छात्रों के बहुआयामी व्यक्तित्व के विकास के लिए योगदान करेगा।
इस अवसर पर विधायक, श्री सुरेन्द्र पारीक ने कहा कि प्राचीन भारतीय चिकित्सकीय पद्धति बहुत अमूल्य है जिसे कम प्रोत्साहन मिला है। उन्होंने कहा कि इस तरह के महोत्सव से न केवल आमजन को आयुर्वेदिक इलाज के बारे में विस्तृत जानकारी मिल पाएगी बल्कि इससे आयुर्वेद भी मुख्य धारा में आ जाएगा। इस महोत्सव के माध्यम से आयुर्वेद के क्षेत्र में नया विजन आएगा। इस अवसर पर विज्ञान भारती के सेकेट्ररी जनरल श्री ए. जयकुमार ने कहा कि आयुर्वेद के सभी छात्रों को प्रोत्साहित करने के लिए तथा राष्ट्रीय स्तर पर एक मुहिम चलाने के उद्देश्य से इस कार्यकम का आयोजन किया जा रहा है। उन्होंने कहा कि छात्रों की प्रतिभा निखारने के साथ साथ यह महोत्सव आयुर्वेद के प्रचार प्रसार में भी सहायक होगा। 

हीरानंद कटारिया ‘द्रोणाचार्य अवार्ड’ के लिए नामित

हीरानंद कटारिया राजस्थान के पूर्व इंटरनेशनल कबड्‌डी प्लेयर और कोच है। राजस्थान के पूर्व इंटरनेशनल कबड्डी प्लेयर और कोच हीरानंद कटारिया के नाम की सिफारिश द्रोणाचार्य अवार्ड के लिए की गई है। इसके अलावा एथलेटिक्स कोच दिवंगत रामकृष्णन गांधी और रियो पैरालिंपिक स्वर्ण पदक विजेता टी. मरियप्पन के कोच सत्यनारायण के नाम की अनुशंसा भी द्रोणाचार्य अवार्ड के लिए की गई है। खिलाड़ी और कोच के रूप में सफल रहे कटारिया करीब तीन दशकों से कबड्डी से जुड़े हुए हैं। 1995 के सैफ खेलों की स्वर्ण पदक विजेता टीम के सदस्य रह चुके कटारिया प्रदेश के महाराणा प्रताप और गुरू वशिष्ठ पुरस्कारों से भी सम्मानित हो चुके हैं।
कटारिया ने 1997 से कोचिंग का जिम्मा संभाला और अब तक पांच अंतरराष्ट्रीय महिला खिलाड़ी तैयार कर चुके हैं। कटारिया से कोचिंग लेने वाली शालिनी पाठक, सुमित्रा शर्मा और मंजु भारतीय टीमों में जगह बना चुकी हैं और जूनियर वर्ग में गरिमा गौड़ और माया सहारण हाल ही में भारतीय टीम के शिविर में हिस्सा लेकर लौटी है। कटारिया पिछले 15 सालों से नि:शुल्क प्रशिक्षण दे रहे हैं। राजस्थान वुशु संघ के अध्यक्ष कटारिया का परिवार खेलों से जुड़ा हुआ है। उनके पुत्र लवमीत कटारिया अंतरराष्ट्रीय बॉलीबाल खिलाड़ी है।

राजस्थान सामान्य ज्ञान प्रश्नोत्तरी 251

राजस्थान सामान्य ज्ञान प्रश्नोत्तरी 251: Rajasthan General Knowledge Sample Question Paper with Collection 10 Question for upcoming RAS, Rajasthan Police, REET, SI, Constable, Patwari and other state exams under GK Quiz in Rajasthan GK Sample Papers. You Can Download Rajasthan GK Free Mobile App for daily current affairs, Rajasthan GK, GK Notes, Objective Quiz at RAJASTHAN GK Mobile App from various examinations of Rajasthan Govt. and central Govt Examinations.

For More Rajasthan GK Follow us on  
Rajasthan GK ANDROID App: http://tinyurl.com/RajasthanGK
INDIA GK Note, Exam Solved Papers: http://tinyurl.com/IndiaGK 

राजस्थान सामान्य ज्ञान प्रश्नोत्तरी 251:
राजस्थान में सरसों तेल उद्योग का प्रमुख केंद्र कहाँ स्थित है?
A. भरतपुर
B. अलवर
C. जयपुर
D. टोंक
Answer: B 

सहरिया जनजाति की बस्ती क्या कहलाती है?
A. सहराना
B. कू
C. फलां
D. ग्राम
Answer: A

वह वाद्य यंत्र कौन-सा है, जिसका निर्माण सींग से किया जाता है?
A. ढोल
B. डमरू
C. डैरू
D. सिंगी
Answer: D

गैर नृत्य का संबंध किस जाति से है?
A. कालबेलिया
B. भील
C. गरासिया
D. बनजारा
Answer: B 

गीदड़ नृत्य, राजस्थान के किस क्षेत्र का नृत्य है?
A. शेखावाटी क्षेत्र
B. बांगड़ क्षेत्र
C. मेवाड़ क्षेत्र
D. हाड़ौती क्षेत्र
Answer: A 

राजस्थान के किस ज़िले में ऊन सेक्टर हेतु स्पेशल इकोनोमिक जोन की स्थापना की गयी है?
A. जोधपुर
B. बीकानेर
C. जैसलमेर
D. चूरू
Answer: B

राजस्थान में संगमरमर की सबसे अधिक प्रोसेसिंग इकाइयाँ किस ज़िले में हैं?
A. नागौर
B. राजसमंद
C. उदयपुर
D. अजमेर
Answer: B 

राजस्थान में सीमेन्ट कारख़ाने की स्थापना सर्वप्रथम किस स्थान पर की गई?
A. मोडक
B. लाखेरी
C. निम्बाहेड़ा
D. चित्तौड़गढ़
Answer: B

केबिल बनाने का कारख़ाना राजस्थान में कहाँ स्थित है?
A. जयपुर
B. कोटा
C. ब्यावर
D. अलवर
Answer: B 

राजस्थान में कीटनाशी रसायनों का निर्माण कहाँ पर होता है?
A. झुंझुनू
B. अलवर
C. चित्तौड़गढ़
D. उदयपुर

Answer: D 

For More Rajasthan GK Quiz, Current Affairs with Explanation, Download "RAJASTHAN GK" Free Mobile App: https://play.google.com/store/apps/details?id=com.csurender.android.rajasthangk

Rajasthan Solar Power Capacity in July 2017

Rajasthan Solar Power / Energy  Capacity in July 2017 is 2022 MW in July 2017: The cumulative Solar Energy capacity installed, as on 31.07.2017, is 13652 MW while the same at the end of 2014-15 was 3743.97 MW. This was stated by Shri Piyush Goyal, Minister of State (IC) for Power, Coal & New and Renewable Energy and Mines in a written reply to a question in the Lok Sabha on 10th August 2017. 
The States that crossed the solar installed capacity of 1 GW, as on 31.07.2017 are:
  1. Andhra Pradesh(2048 MW)
  2. Rajasthan(2022 MW)
  3. Tamil Nadu(1697 MW)
  4. Telangana (1609 MW)
  5. Gujarat(1262 MW)
  6. Karnataka(1260 MW)
  7. Madhya Pradesh(1116 MW)

Sanwar Lal Jat passed away

Former Union minister and BJP parliamentarian Sanwar Lal Jat died at the All India Institute of Medical Sciences (AIIMS) in New Delhi early on 9th Aug 2017. He was 62. The Rajasthan politician, who had served as the minister of state for water resources in the Narendra Modi government, breathed his last at 6.15 am after being in coma for over a week. A five-time MLA, Jat was a mass leader and a close confidant of Rajasthan chief minister Vasundhara Raje.  
Born in a peasant’s family at Ajmer’s Gopalpura village, the politician made his Lok Sabha debut in 2014 by defeating Rajasthan Congress president Sachin Pilot from Ajmer.  The chairman of the state farmers’ commission, he frequently raised rural issues - mostly related to agriculture - in the Rajasthan assembly. Jat was a farmers’ leader who had made an immense contribution to the state as MLA, MP and minister.