गोडावण हैचिंग सेंटर, जैसलमेर

गोडावण हैचिंग सेंटर, जैसलमेर:

  • राजस्थान सरकार, भारतीय वन्यजीव संस्थान और केंद्र सरकार के सहयोग से प्रदेश में गोड़ावण को विलुप्त होने से बचाने के लिए संरक्षित प्रजनन केंद्र स्थापित करेगी। 
  • राजस्थान वन विभाग, केंद्र सरकार और वन्यजीव संस्थान के विशेषज्ञों की 28 अप्रैल को दिनभर चली कार्यशाला में इस पर सहमति बनी कि जैसलमेर में राष्ट्रीय मरू उद्यान क्षेत्र (डीएनपी) में गोडावण का हैचिंग सेंटर विकसित किया जाए। 
  • इसके पश्चात बारां जिले के सोरसण में एक ब्रीडिंग सेंटर स्थापित करने पर विचार किया जाएगा।  
  • श्रीमती राजे ने मरू उद्यान क्षेत्र में रहने वाले लोगों के लिए पुनर्वास की व्यवस्था सुनिश्चित करने तथा उनको विभिन्न सरकारी योजनाओं का लाभ दिलाने की कार्यवाही में गति लाने के निर्देश दिए।

Rajasthani Muhavare राजस्थानी मुहावरे, कहावतें

Rajasthani Muhavare / Kahawat in Hindi (राजस्थानी मुहावरे, कहावतें):

  • अंधा की माखी राम उड़ावै। 
    • बेसहारे व्यक्ति का साथ भगवान देता है। 
  • अकल बिना ऊंट उभाणा फिरैं । 
    • मूर्ख व्यक्ति साधन होते हुए भी उनका उपयोग नहीँ कर पाते।
  • अक्कल उधारी कोनी मिलै। 
    • हिंदी - अकल उधार में प्राप्त नहीं होती। 
  • अक्कल कोई कै बाप की कोनी। 
    • हिंदी - अकल पर किसी का सर्वाधिकार नहीं है |
  • अगस्त ऊगा, मेह पूगा । 
    • हिंदी -अगस्त माह शुरू होते ही वर्षा पहुँच जाती है |
  • अणदेखी न नै दोख, बीनै गति न मोख। 
    • हिन्दी – निर्दोष पर दोष लगाने वाले की कहीँ गति नहीँ होती।
  • अणमांग्या मोती मिलै, मांगी मिलै न भीख। 
    • हिंदी -बिना मांगे कीमती चीज मिल जाती है पर मांगने पर भीख भी नहीं मिलती है। 
  • अत पितवालो आदमी, सोए निद्रा घोर। अण पढ़िया आतम कही, मेघ आवै अति घोर |
    • हिन्दी - अधिक पित्त प्रकृति का व्यक्ति यदि दिन मेँ भी अधिक सोए तो यह भारी वर्षा का सूचक है।
  • अदपढ़ी विद्या धुवै चिन्त्या धुवे सरीर। 
    • हिंदी -अधूरे ज्ञान से चिंता बढती है और शरीर कमजोर होता है 
  • अनहोणी होणी नहीं, होणी होय सो होय। 
    • हिंदी -जो नहीं होना है वह होगा नहीं और होने को टाल नहीं सकते है |
  • अम्बर कै थेगळी कोनी लागै । 
    • हिंदी -आकाश में पैच नहीं लगाया जा सकता |
  • अम्बर राच्यो, मेह माच्यो | 
    • हिन्दी – आसमान का लाल होना वर्षा का सूचक है।
  • अम्मर को तारो हाथ सै कोनी टूटै । 
    • हिन्दी– आकाश का तारा हाथ से नहीँ टूटता।
  • अम्मर पीळो में सीळो । 
    • हिन्दी – आसमान का पीला होना वर्षा का सूचक है।
  • अरजन जसा ही फरजन । 
    • हिंदी - सब एक जैसे हैं |
  • अरड़ावतां ऊँट लदै । 
    • हिंदी – दीन पुकार पर भी ध्यान न देना।
  • असो भगवान्यू भोळो कोनी जको भूखो भैसां में जाय । 
    • हिंदी – कोई मूर्ख होगा जो प्रतिफल की इच्छा के बगैर कार्य करे।
  • आँ तिलां मैँ तेल कोनी | 
    • हिंदी – क्षमता का अभाव।
  • आँख मीच्यां अंधेरो होय । 
    • हिंदी – ध्यान न देने पर अहसास का न होना।
  • आँखन, कान, मोती, करम, ढोल, बोल अर नार। अ तो फूट्या ना भला, ढाल, ताल, तलवार॥ 
    • हिंदी – ये सभी चीजेँ न ही टूटे-फूटे तो ही अच्छा है।
  • आंख्याँ देखी परसराम, कदे न झूठी होय । 
    • हिंदी – आँखोँ देखी घटना कभी झूँठी नहीँ होती।
  • आंधा मेँ काणोँ राव | 
    • हिंदी – मूर्खोँ मेँ कम गुणी व्यक्ति का भी आदर होता है।
  • आगे थारो पीछे म्हारो | 
    • हिंदी – जैसा आप करेँगे वैसा ही हम।
  • आज मरयो दिन दूसरो | 
    • हिंदी – जो हुआ सो हुआ।
  • आज हमां और काल थमां | 
    • हिंदी – जो आज हम भुगत रहे हैँ, कल तुम भुगतोगे।
  • आडा आया माँ का जाया | 
    • हिंदी – कठिनाई मेँ सगे सम्बन्धी (भाई) सहायता करते हैँ।
  • आडू चाल्या हाट, न ताखड़ी न बाट | 
    • हिंदी – मूर्ख का कार्य अव्यवस्थित होना।
  • आदै थाणी न्याय होय | 
    • हिंदी – बुरे/बेईमान को फल मिलता है।
  • आप कमाडा कामडा, दई न दीजे दोस | 
    • हिंदी – व्यक्ति के किये गए कर्मोँ के लिए ईश्वर को दोष नहीँ देना चाहिए।
  • आप गुरुजी कातरा मारै, चेला नै परमोद सिखावै | 
    • हिंदी – निठल्ले गुरुजी का शिष्योँ को उपदेश देना।
  • आप मरयां बिना सुरग कठै | 
    • हिंदी – काम स्वयं ही करना पड़ता है।
  • आम खाणा क पेड़ गिणना | 
    • हिंदी – मतलब से मतलब रखना।
  • आषाढ़ की पूनम, निरमल उगै चंद। कोई सिँध कोई मालवे जायां कट सी फंद। 
    • हिंदी – आषाढ़ की पूर्णिमा को चाँद के साथ बादल न होने पर अकाल की शंका व्यक्त की जाती है।
  • इब ताणी तो बेटी बाप कै ही है | 
    • हिंदी – अभी कुछ नहीँ बिगड़ा।
  • इसे परथावां का इसा ही गीत। 
    • हिंदी – जैसा विवाह वैसे ही गीत।
  • ई की मा तो ई नै ही जायो । 
    • हिंदी – इसके बारे मेँ अनुमान नहीँ लगाया जा सकता।
  • उठै का मुरदा उठै बलेगा, अठे का अठे। 
    • हिंदी – एक स्थान की वस्तु दूसरे स्थान पर अनुपयोगी है।
  • उत्तर पातर, मैँ मियाँ तू चाकर। 
    • हिंदी – उऋण होने मेँ संतोष का द्योतक है।
  • उल्टो पाणी चीलां चढ़ै । 
    • हिंदी – अनहोनी की आशंका को व्यक्त करता है।
  • ऊंट मिठाई इस्तरी, सोनो गहणो शाह। पांच चीज पिरथी सिरै, वाह बीकाणा वाह। 
    • हिंदी - काव्य पंक्तियां मरुधरा की ऐसी पांच विशिष्टताओं को उल्लेखित करती है जिनकी सराहना समूची दुनिया में हो रही है।
  • एक हाथ मैँ घोड़ो एक मैँ गधो है। 
    • हिंदी – भलाई-बुराई का साथ-साथ रहना।
  • ऐँ बाई नै घर घणा। 
    • हिंदी – योग्य व्यक्ति हर जगह आदर पाता है।
  • ओ ही काल को पड़बो, ओ ही बाप को मरबो।  
    • हिंदी – कठिनाईयाँ एक साथ आती हैँ।
  • ओछा की प्रीत कटारी को मरबो। 
    • हिंदी – ओछा अर्थात् निकृष्ट का साथ तथा कटारी से मरना दोनोँ ही एक समान हैँ।
  • ओसर चूक्यां नै मौसर नहीँ मिलै। 
    • हिंदी – चूक होने पर अवसर नहीँ मिलता।

Rajasthan Current Affairs April 2017

Rajasthan Current Affairs for April 2017Rajasthan Current Affairs General Knowledge(GK) Multiple Choice Questions (MCQ) for RAS, IAS/ Bank and other competitive examinations across Rajasthan.  As part of Current Affairs , We will daily provides you Question of Current Affairs, India GK and World GK during whole month of April 2017 which will help you in various rajasthan state level examinations like RAS, REET, Rajasthan Patwari, Rajasthan Police and other state level examinations. For Current Affairs Live Updates, Rajasthan GK, Download Free Mobile App:
"राजस्थान GK" फ्री Android Apptinyurl.com/RajasthanGK   

Rajasthan Current Affairs for April  2017
:  
Who takes oath as New Chief Justice of Rajasthan High Court on 2nd April 2017?
A. Kalpesh Jhaveri
B. Ajay Rastogi
C. Pradeep Nandrajog
D. BD Ahmed
Answer: C
Explanation: Justice Pradeep Nandrajog takes oath as New Chief Justice of Rajasthan High Court on 2nd April 2017 in a ceremony at Raj Bhawan, Jaipur. Governor Kalyan Singh administered the oath of office to Nandrajog. Check Detail Explanation at RAJASTHAN GK Apptinyurl.com/RajasthanGK

हाल ही में राजस्थान के किस विधायक को राष्ट्रीय सिंधी भाषा विकास परिषद् का सदस्य मनोनित किया है?
A. ज्ञानदेव आहुजा
B. श्रीचंद कृपलानी
C. वासुदेव देवनानी
D. इनमें से कोई नहीं
Answer: C
विस्तार : केन्द्र सरकार ने शिक्षा राज्य मंत्री वासुदेव देवनानी को नेशनल कॉउन्सिल फॉर प्रमोशन ऑफ सिंधी लैंग्वेज ‘एन.सी.पी.एस.एल.’ का सदस्य मनोनित किया है। Check Detail Explanation at RAJASTHAN GK Apptinyurl.com/RajasthanGK

किस राज्य ने अप्रैल 2017 में संदेय स्टाम्प शुल्क पर 10% अतिरिक्त अधिभार लगाया है?
A. उत्तरप्रदेश
B. पंजाब
C. राजस्थान
D. केरल
Answer: C
विस्तार : राजस्थान राज्य सरकार ने अप्रैल 2017 में एक अधिसूचना जारी कर राजस्थान स्टाम्प अधिनियम के अधीन समस्त लिखतों पर संदेय स्टाम्प शुल्क पर दस प्रतिशत की दर से अधिभार किया गया है। अधिसूचना के अनुसार आधारभूत अव संरचना सुविधाआेंं के विकास और नगरपालिकाओं और पंचायती राज संस्थाओं के वित्त पोषण के प्रयोजनों के लिए, यह अधिसूचना जारी की गई है। Check Detail Explanation at RAJASTHAN GK Apptinyurl.com/RajasthanGK

किस राज्य सरकार ने 26 अप्रैल को मुख्यमंत्री, मंत्री और विधायकों के वेतन-भत्ते बढ़ाने वाला विधेयक पास किया है?
A. बिहार
B. राजस्थान
C. छत्तीसगढ़
D. दिल्ली
Answer: B
विस्तार : राजस्थान विधानसभा ने 26 अप्रैल 2017 को राजस्थान मंत्री वेतन (संशोधन) विधेयक, 2017, राजस्थान मंत्री वेतन (द्वितीय संशोधन) विधेयक, 2017 एवं राजस्थान विधानसभा (अधिकारियों तथा सदस्यों की परिलब्धियां और पेंशन) (संशोधन) विधेयक,  ध्वनिमत से पारित कर दिए। संसदीय कार्य मंत्री श्री राजेन्द्र सिंह राठौड़ ने तीनों विधेयकों के सदन में प्रस्तुत किया। जहाँ राजस्थान राज्य सरकार के कर्मचारी एवं अधिकारी सातवें वेतन आयोग की पिछले 16 महीनों से बाट जो रहे हैं, इस बढ़ोतरी के लिए तीनों विधेयक को बिना किसी चर्चा के चंद मिनटों में ही ध्वनिमत से पारित कर दिया। इन पर न तो किसी विधायक ने कोई विरोध किया, न ही किसी प्रकार का सुझाव दिया।  Check Detail Explanation at RAJASTHAN GK Apptinyurl.com/RajasthanGK

किस राज्य सरकार ने 26 अप्रैल को माल और सेवा कर विधेयक (GST Bill), 2017 पास किया है?
A. गुजरात
B. छत्तीसगढ़
C. हरयाणा
D. राजस्थान
Answer: D
विस्तार : तेलंगाना और बिहार के बाद राजस्थान 26 अप्रैल 2017 को राजस्थान में भी राज्य वस्तु एवं सेवा कर (GST) बिल पारित हो गया।राजस्थान विधानसभा के आठवें सत्र के दूसरा चरण के अंतिम दिन राजस्थान माल और सेवा कर विधेयक, 2017 संशोधित रूप में ध्वनिमत से पारित कर दिया गया। Check Detail Explanation at RAJASTHAN GK Apptinyurl.com/RajasthanGK

राजस्थान में गोडावण हैचिंग सेंटर कहाँ बनाया जायेगा?
A. जैसलमेर
B. श्रीगंगानगर
C. बाड़मेर
D. जोधपुर
Answer: A
विस्तार : राजस्थान सरकार, भारतीय वन्यजीव संस्थान और केंद्र सरकार के सहयोग से प्रदेश में गोड़ावण को विलुप्त होने से बचाने के लिए संरक्षित प्रजनन केंद्र स्थापित करेगी। Check Detail Explanation at RAJASTHAN GK Apptinyurl.com/RajasthanGK


Pradeep Nandrajog takes oath as New Chief Justice of Rajasthan High Court

Justice Pradeep Nandrajog takes oath as New Chief Justice of Rajasthan High Court on 2nd April 2017 in a ceremony at Raj Bhawan, Jaipur. Governor Kalyan Singh administered the oath of office to Nandrajog. The Chief Justice took the oath in English in the presence of Rajasthan Assembly Speaker Kailash Meghwal, Chief Minister Vasundhara Raje and members of the council of ministers. Nandrajog was the Delhi High Court judge before being appointed as the Chief Justice of Rajasthan High Court.
Earlier President in exercise of the powers conferred by clause (1) of Article 217 of the Constitution of India appointed Justice Pradeep Nandrajog, Judge of the Delhi High Court, to be the Chief Justice of the Rajasthan High Court. Justice Pradeep Nandrajog was enrolled as an Advocate with the Bar Council of Delhi in the year 1981. He was elevated as an Additional Judge of the Delhi High Court on 20th December 2002 and became a Permanent Judge on 16th April 2004.