राजस्थान के पंच पीर

राजस्थान के पंच पीर (Rajasthan ke Panch Peer):  राजस्थान की धरा पर अनैक संत एवं महापुरुषों ने जन्म लिया जिन्होंने विभिन्न धर्मो व जाति-पाति के विवाद को खत्म करते हुए आपसी भाईचारे का संदेश दिया । राजस्थान के लोक जीवन में कई महान व्यक्तित्व देवता के रूप में सदा के लिए अमर हो गए। इन लोक देवताओं में कुछ को 'पीर' की संज्ञा दी गई है। एक जनश्रुति के अनुसार राजस्थान में पाँच पीर हुए हैं। इन्हें 'पंच पीर' भी कहा जाता है, जिनके नाम इस प्रकार हैं-
1. पाबूजी
2. हड़बूजी
3. रामदेवजी
4. मंगलियाजी
४. मेहाजी

राजस्थान के पंच पीरों के बारे में एक प्रसिद्ध दोहा इस प्रकार है:
पाबू, हड़बू, रामदे, मांगलिया, मेहा। पांचो पीर पधारज्यों, गोगाजी जेहा॥

राजस्थान में प्रजामण्डलों का इतिहास एवं अन्य जानकारी के लिए पढ़ें सम्पूर्ण नोट्स हमारी फ्री एंड्राइड एप्प राजस्थान GK हिंदी में,
डाउनलोड लिंक: https://play.google.com/store/apps/details?id=com.csurender.android.rajasthangk